काले जादू का तंत्र-मंत्र ओर तोड़

0
400
काले जादू का तंत्र-मंत्र ओर तोड़
काले जादू का तंत्र-मंत्र ओर तोड़

अच्छाई ओर बुराई दोनों एक दूसरे की पूरक मानी गई हैं, इस संसार मे जहा दैवीय शक्तिया है वही शैतानी शक्तियां भी मौजूद है। काले जादू का तोड़ या तंत्र-मंत्र का प्रयोग आपके विरोधियों के द्वारा आपको नुकसान पहुचने या आपसे बदला लेने के उद्देश्य से किया जा सकता है।

काले जादू का उपयोग मारण,मुठकर्णी,वशीकरण, उच्चाटन, भूत-प्रेतआदि में किया जा सकता है। काला जादू जितनी शीघ्रता से असर करता है , उतनी ही शीघ्रता से उसका विनाश भी किया जा सकता है।

जिस प्रकार हर ताले की चाबी होती है उसी प्रकार हर तरह के काले जादू का तोड़ भी उपलब्ध है, हम इस लेख में काले जादू से बचने के ओर काले जादू को काबू में करने के उपायों के बारे में जानेंगे।

काले जादू का तोड़

किसी उपाय को आजमाने से पहले हमें नकारात्मक ऊर्जा की उपस्थिति का पता लगालेना चाहिए। इसके लिए आपको एक निम्बू लेना होगा और रात को सोते समय इस निम्बू को अपने तकिये के निचे रख कर सोना होगा,यदि आप पर सच मे काला साया है तो अगली सुबह निम्बू का रंग बदल जायेगा।

  • सात लौंग और सात काली मिर्च के दाने साथ रखते हूवेमंगलवार या शनिवार के दिन हनुमानजी की मूर्तिकी 7 बार परिक्रमा लगाये। इन लौंग और काली मिर्च को पीड़ित व्यक्ति के पास कुछ दिन के लिए रखे जिससे कुछ ही दिनों मेंकाले जादू का असर समाप्त हो जाएगा। घर में नियमित रूप से सुबह शाम हनुमान चालीसा का पाठ अवश्य करे।
  • घर को नकारात्मक ऊर्जा से मुक्त करने के लिए घर मे नियमित रूप से गूगल और गायत्री केसर से धूप करे। धूप के लिए गाय के कंडे ले ओर इन्हें कपूर की सहायता से प्रज्वलित कर गूगल और गायत्री केसर की इसमे आहुतिदे,उत्पन्न धूप को पूरे घर मे फ़ैलने दे।यह धूप सुबह और शाम की आरती के समय लगायी जा सकती है।

जिस प्रकार काला जादू कई तरीको से किया जाता है उसी प्रकार से काला जादू तोड़ने के उपाय भी बहुतायत में है।

  • किसी की बुरी नजर लग जाने पर दो पके निम्बू ले, अब निम्बू के बीच मे चिरा लगाकर इसमे राई ओर नामक भर ले, इसे काले धागे की सहायता से बंद कर ले। इन दोनों निम्बू को पीड़ित व्यक्ति के शरीर पर फेर ले ओर अब इन निम्बूओ को किसी सुमसान चौराहें पर जा कर रख दे।
  • ऐसा करते समय पिछे मुड़ कर न देखे अन्यथा यह उपाय बेअसर हो जाएगा। अमावस को इस उपाय के लिए श्रेष्ठ माना गया है।
  • एक लोहे की कढ़ाई ले और उसमें सरसो का तेल डाल कर गरम कर ले,अब खौलते हुवे तेल में निम्न वस्तुएं डाले एक काली चूड़ी, छोटा चमड़े का टुकड़ा और फिटकरी इन सभी को तब तक गरम करते रहे जब तक कि इसमें से धुँआ नही निकलता।
  • अब गैस को बंद कर कढ़ाई को सभी सामग्री सहित पीपल के पेड़ के नीचे गड्डा खोद कर गाड़ दे। अब उसी पीपल के पेड़ पर एक लोहेकी कील भी ठोक दे। यह उपाय शनिवार को पीड़ित व्यक्ति के द्वारा ही किया जाना चाहिये।
  • ध्यान रहे लौटने के समय न ही कुछ बोले ओर न ही पीछे मुड़ कर देखे।तांत्रिको का मानना है कि यह उपाय हर प्रकार के काले जादू का तोड़ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here